उपयोगी सम्पर्क

USEFUL LINKS

Google Translate

कार्बनिक खेती

कार्बनिक खेती (organic farming) एक पूर्ण प्रबंधन प्रणाली है जिससे कृषि-परिस्थितिकी स्वास्थय (जिसमें जैव-विविधता, जीव विज्ञानिक चक्रों, और मृदा की जीव विज्ञानिक क्रियायें सम्मिलित हैं) में सुधार आता है। इस प्रणाली में प्राकृतिक तौर पर उपलब्ध संसाधनों के प्रबंधन की तरकीबों के प्रयोग पर ज़ोर दिया जाता है। इसको सस्य विज्ञानिक, जीव विज्ञानिक और यान्त्रिक विधियों को, संसाधित सामग्री के प्रयोग के बजाये उपयोग कर पूरा किया जाता हैं।

Organic jaggeryउपभोक्ताओं के द्वारा कार्बनिक प्रणाली से उगाई गई सामग्री की मांग वैसे वैसे बढ़ती जा रही है जैसे जैसे कृषि-रसायनों के प्रयोग से उत्पादित खाद्य सामग्री के कुप्रभावों के बारे में जागृति बढ़ती जा रही है। चीनी का प्रयोग मिठाइयों, पेय पदार्थों, मिठास वाले पदार्थों, नाश्ते, इत्यादि में किया जाता है। कार्बनिक खाद्य पदार्थों में जिस चीनी का प्रयोग होना चाहिये वह कार्बनिक खेती से उत्पादित शर्करा से बनाई गई हो अतः कार्बनिक खेती से उत्पादित गन्ने की शर्करा से बनाई गई चीनी की आवश्यक्ता है।

गन्ना प्रजनन संस्थान, कोयम्बत्तूर में कार्बनिक खेती पर किये गये अध्यन में पाया गया की गन्ना उत्पादक्ता को बनाये रखा जा सकता है यदि पोषक तत्वों की पूरी मात्रा कार्बनिक स्त्रोतों से ही दी जाये।.

गन्ना सौर ऊर्जा को जीवभार में बदलने वाला एक कुशल पौधा है और इसके साथ जब दालों, हरी खादवाली फसलों, मसाले जैसेकि धनिया, प्याज़ और सब्जियों को अन्तः/मिश्रित फसलों के रूप में गन्ने के साथ उगाकर न केवल काफी मात्रा में जीव भार उत्पादित होता है बल्कि किसान की आय में भी वृद्धि होती है। इसके साथ ही फसल के अवशेषों को मृदा में मिलाकर पुनःचक्र से मृदा की उर्वरता में वृद्धि होती है जो गन्ने की दीघ्रकालिक उत्पादक्ता में सहायता मिलती है।

गन्ना प्रजनन संस्थान, कोयम्बत्तूर में कार्बनिक खेती के उत्पादन का अर्थशास्त्रीय अध्यन किया गया है। कार्बनिक खेती में पारमपरिक खेती के मुकाबले 50% अधिक लागत देखी गई। यह अधिक लागत मुख्यतः खलियान खाद की ऊँची कीमत के कारण है। इस लागत को कम किया जा सकता है यदि फार्म पर ही कम्पोस्टिंग की जाये, फसल के अवशेषों को पुनःचक्रित किया जाये, गाये/भैंसों और अन्य पालतु पशुओं को पाला जाये, गोबर गैस प्लांट लगाये जायें, मिश्रित खेती की जाये व वर्मीकम्पोस्ट बनाई जाये। क्योंकि कार्बनिक खाद्य पदार्थ उत्पादों को अधिक कीमत मिलती है, जिसमें कार्बनिक चीनी भी शामिल है, अतः कार्बनिक खेती में होने वाली उच्च लागत की न केवल इससे भरपाई हो पाती है बल्कि और अधिक लाभ भी होता है।

उपयोगी सम्पर्क

USEFUL LINKS

Google Translate

For your Attention



Contact us





Visitors Count

1129617
Today
Yesterday
This Week
Last Week
This Month
Last Month
All days
1092
1503
9888
1109292
43257
38022
1129617
IP & Time: 18.212.120.195
2021-11-27 17:02