USEFUL LINKS

Google Translate

डा0 सी.ए. बारबर

C.A. Barber डा0 सी.ए. बारबर को 1912 के दौरान गन्ना अनुसंधान स्टेशन (जिसे अब गन्ना प्रजनन संस्थान के नाम से जाना जाता है) संस्थापक निदेशक नियुक्त किया गया

  • वह गन्ने के पहले सरकारी विषेशज्ञ थे
  • वह संस्थान में 1912 से 1918 के दौरान पादप और प्रजनन विज्ञानिक रहे
  • वह पहले अन्तर-स्पैसिफिक संकर को. 205 के पहचानने में सहायक थे जिसे व्यवसायिक खेती के लिये लोकार्पित किया गया
  • वह 1916 में पहले सफल अन्तर-जैनरिक संकर के निर्माता थे जिसे एस. आफिषनेरम कृन्तक ’वेल्लाइ’ और नरेंजा पोरफियोकाना के मध्य मिलन से उत्पन्न किया गया
  • उन्होंने गन्ना प्रजनन कार्य को भारत में शुरु किया जिसमें उन्होंने जंगली स्पीसिस (कांस) की को. प्रजातियों को पैतृक के रुप में प्रयोग कर अपने स्टेशन को अन्तरराश्ट्रीय पहचान दिलाई
  • उन्होंने भारतीय गन्नों के शरीरिकि और वर्गीकरण के अति महत्वपूर्ण कार्य को किया
  • स्पीसिस सैक्रम बारबेरी का नामकरण भी उन्हीं के नाम पर आधारित है

USEFUL LINKS

Google Translate

For your Attention



Contact us





Visitors Count

1129660
Today
Yesterday
This Week
Last Week
This Month
Last Month
All days
1135
1503
9931
1109292
43300
38022
1129660
IP & Time: 18.212.120.195
2021-11-27 17:25