USEFUL LINKS

Google Translate

समन्वित खरपतवार प्रबंधन

गन्ने के खेतों में कई प्रकार के वार्षिक और बहुवार्षिक खरपतवार, जिनमें चौढ़ी पत्तों वाल पौधे, घासें और नरकटें शामिल हैं, पाये जाते हैं। गन्ने के खेतों में पाई जाने वाली विभिन्न जातियों और उनकी तीव्रता के आधार पर गन्ने की उत्पादक्ता में 10 से 70% तक की कमी आ सकती है।

गन्ने के शुरूआती धीमी वृद्धि की प्रावस्था के दौरान रोपण में पक्तियों की अधिक दूरी, अंकुरण में लगने वाला लम्बा समय और जल्दी जल्दी दी जाने वाली सिंचाईयां खरपतवारों के अंकुरण और उनकी प्रचुर वृद्धि में सहायक होते हैं।

गन्ने की पौधा फसल में फसल और खरपतवार की प्रतिस्पर्धा में सबसे क्रांतिक समयावधि उषणकटिबंधीय हालातों में रोपण के 30 से 45 दिन के बीच पाई गई है जबकी पेड़ी फसल में यह पेड़ी के शुरू होने के 30 से 90 दिनों के बीच पाई गई है।

गन्ने के खेतों में खरपतवारों का नियन्त्रण उनके अंकुरण की अवस्था पर ही महत्वपूर्ण है। एट्राजि़न को 2.0 किलोग्राम क्रियात्मक घटक /है0 को बाहर निकलने से पहले खरपतवार नाशी के रूप में प्रयोग करने से चैड़े पत्तों और घासों के अंकुरण को अच्छी तरंह से नियन्त्रित किया जा सकता है। यद्यपि यह वानस्पतिक भागों से उगने वाले खरपतवारों को नियन्त्रित नहीं कर पाते।

उर्वकरों के देने और मिट्टी चढ़ाने के समय मृदा के उल्ट-पल्ट से खरपतवारों के बीज ऊपर आकर उग जाने से गन्ने के खेतों का पुनःसंक्रमण जाता है। इस अवस्था में प्रतिस्पर्धा के स्तरों का अति निमन्न होने के कारण इसमें नियन्त्रण की कोई आवश्यक्ता नहीं लगती मगर इसे अनियन्त्रित छोड़ने से खरपतवार बीज पैदाकर मृदा में खरपतवारों के बीजों की आरक्षित मात्रा बढ़ सकती है। अतः गन्ने की वृद्धि के दौरान भी निमन्न लिखित कुशल और कम लागत वाली समन्वित प्रबंधन तरकीबों को अपनाया जा सकता है।

पौधा फसल:

एट्राजि़न 1.0 किलोग्राम क्रियात्मक घटक /है0 (बाहर निकलने से पहले खरपतवार नाशी) को रोपण से 3 दिन बाद $ रोपण से 60 दिन बाद एक कुदाली से खुदाई और खरपतवार निकालने के लिये + एट्राजि़न 1.0 किलोग्राम क्रियात्मक घटक /है0 का पूरी मिट्टी चढ़ाई/रोपण से 90 दिन बाद छिड़काव मृदा की और लक्षित कर किया जाता है।

पेड़ी फसल:

एट्राजि़न 2.0 किलोग्राम क्रियात्मक घटक /है0 सिंचाई के बाद और पेड़ी के शुरूआत के समय नम मृदा में से कुदाली से खरपतवार निकालना।

गन्ने के खेतों में बाहर निकलने से पहले खरपतवार नाशी एट्राजि़न और परमपरागत कुदाली से खुदाई और खरपतवारों के निकालने के लगातार प्रयोग ने बहुवर्षीय खरपतवारों, जैसेकि सायनोडोन और नट ग्रास, को स्थापित करने में सहायता दी है। यह बहुवर्षीय खरपतवार गन्ने के लाभप्रद उत्पादन के लिये खतरनाक होते जा रहे हैं। सायनोडोन और नट ग्रास को नियन्त्रित करने के लिये गलायफोसेट का रोपण से पहले बाहर निकलने के बाद प्रयोग से खड़ी फसल में भी घासों पर गलायफोसेट सीधा प्रयोग संक्रमण को कम करते पाये गये हैं।

USEFUL LINKS

Google Translate

For your Attention



Contact us





Visitors Count

1129694
Today
Yesterday
This Week
Last Week
This Month
Last Month
All days
1169
1503
9965
1109292
43334
38022
1129694
IP & Time: 18.212.120.195
2021-11-27 17:40