USEFUL LINKS

Google Translate

ADVISORY FOR SUGARCANE MANAGEMENT (Click for Details)

जर्मप्लास्म संग्रहण एवं पंजीकरण

जर्मप्लास्म अन्वेषण

जर्मप्लास्म अन्वेषण

  • सितम्बर अक्तूबर 2011 में उत्तर-पूर्व के नागालैड व मनीपुर राज्यों में अन्वेषण कर 108 कृन्तकों को इकठ्ठा किया गया जिनमें 5 एस. आफिशनेरम, 98 एस. स्पानटेनियम, 4 इरिएन्थस जातियां और एकक नारेंजा से थे।
  • जंगली जर्मप्लास्म को संग्रहित करने ंके लिये सितम्बर 2010 पश्चिमी बंगाल में अन्वेषण किया गया। दस जि़लों का सर्वेक्षण कर एस. स्पानटेनियम, इरिएन्थस रुफिपाइल्स, इ. एलिफैंटाइन्स और इ. अरुंडिनेशियस से 41 कृन्तक संग्रहित किये गये।
  • जर्मप्लास्म को समृद्ध करने के लिये हिमालय वाले राज्यों में अगस्त सितम्बर 2009 के दौरान अन्वेषण कर हिमाचल प्रदेश से एस. स्पानटेनियम, इरिएन्थस फुलव्स व मिस्कैंथस जातियों से 28 कृन्तकों को और उत्तराखंड में एस. स्पानटेनियम और मिस्कैंथस से 25 कृन्तकों को संग्रहित किया गया।
  • अक्तूबर नवम्बर 2008 के दौरान राजस्थान राज्य के पूर्व और दक्षिण के 10 जि़लों से अन्वेषण कर एस. स्पानटेनियम की कुल 14 जंगली प्रविष्टियों को संग्रहित किया गया। पूर्व राजस्थान के कई हिस्सों की बंजर भूमियों में या बांधों के ऊपर इरिएन्थस बैंगालैंसिस को आमतौर पर पाया गया।

  • कन्नूर के अनुसंधान केन्द्र में गन्ने के जर्मप्लास्म को कलोनली अनुरक्षित किया जा रहा है जिसमें कुल 3368 प्रविष्टियां हैं। यहां 24 कृन्तकों को इन विटरों में अनुरक्षित किया जा रहा है।
  • कोयम्बत्तूर में अगस्त सितम्बर 2011 के दौरान एस. स्पानटेनियम से 962, इरिएन्थस जातियों से 310 और 48 उच्च रेशों वाले और सम्बंधित जैनरा से कुल मिलाकर कुल 1320 जंगली जर्मप्लास्म प्रविष्टियों को खेत में पुनःरोपित किया गया।
  • आई.ए.आर. आई. के क्षेत्रीय केन्द्र, वैलिंगटन में 2006 में मेघाल्य से इकठ्ठे किये गये 5 इरिएन्थस रुफिपाइल्स कृन्तकों और मिस्कैंथस नेपालैंसिस के 3 कृन्तकों को अनुरक्षित किया जा रहा है।।

पंजीकरण

भारतीय कृषि अनुसंधान समिति की जर्मप्लास्म पंजीकरण कमिटी ने गन्ने के विकसित किये गये 9 संकरों को पंजीकृत किया गया है जिसका विवरण नीचे तालिका में दिया गया है।

कृन्तक नम्बर पंजीकरण नम्बर जिन लक्षणों के लिये पंजीकृत किया गया
एस.एस.एच.1 (SSH.1) ...... सैक्रम x सोरघम संकर
सी.वाई.एम. 04-420 (CYM 04-420) आई.एन.जी.आर. नम्बर 08039 (INGR NO. 08039);
आई.सी. 556971 (IC 556971)
इरिएन्थस अरुंडिनेशियस x सैक्रम स्पानटेनियम संकर को इरिएन्थस के कोशिका द्रव्य के साथ
को. 92002 आई.एन.जी.आर. नम्बर 08040 (INGR NO. 08040);
आई.सी. 556972 (IC 556972)
1. व्यवसायिक दृष्टि से एक कभी मिलने वाला पुनर्संयोजक, जिसके विकास में सैक्रम रोबस्टम की जंगली जाति ने भाग लिया, 2. जिसमें उच्च गन्ना व चीनी उत्पादन के साथ साथ सूखा सहने और स्मट प्रतिरोधिता के गुण उपस्थित थे। 3. इसके ऊँचे गन्ने थे।
को. 93009 आई.एन.जी.आर. नम्बर 08041 (INGR NO. 08041);
आई.सी. 522951 (IC 522951)
1. एक व्यवसायिक का कृन्तक जिसमें उच्च गन्ना उत्पादन के साथ साथ लाल सड़न रोग प्रतिरोधिता भी थी। 2. इसके गन्ने भारी हैं अतः एक गन्ने का भार ऊँचे है।
को. 99006 आई.एन.जी.आर. नम्बर 08042 (INGR No. 08042);
आई.सी. 556976 (IC No. 556976)
1. एकक उच्च शर्करा प्रजाति 2. जो जलप्लावन के लिये सहनशील है।
एस.सी.जी.एस. 00-0402 (SCGS 00-0402) आई.एन.जी.आर. नम्बर 09053 (INGR No. 09053);
आई.सी. 565019 (IC No. 565019)
एक प्रजनन के लिये प्रयोग किया जा सकने वाला स्टाक जिसे जल्द उच्च शर्करा के साथ उच्च सी.सी.एस.% एवं रस की शुद्धता के स्त्रोत के रूप में पहचाना गया है।
को. 97016 आई.एन.जी.आर. नम्बर 09052 (INGR No. 09052);
आई.सी. 56501 (IC 56501)
1. एक कभी मिलने वाला पुनर्संयोजक, जिसके विकास में सैक्रम रोबस्टम ने भाग लिया, 2. जिसमें उच्च गन्ना व चीनी उत्पादन की क्षमता है। 3. यह उपोषणकटिबंधीय क्षेत्र के हालातों में जल प्लावन, लवणता व सूखे को सहने की क्षमता वाला है।

पंजीकरण (contd..

कृन्तक नम्बर पंजीकरण नम्बर जिन लक्षणों के लिये पंजीकृत किया गया
को. 91002 आई.एन.जी.आर. नम्बर 09131 (INGR No. 09131); 1. यह फसल में 300 दिनों पर जल्द शर्करा संचति करने वाला एक अद्वितीय स्टाक है 2. जिसमें सूखा सहने और स्मट प्रतिरोधिता के गुण उपस्थित थे।
को. 0120 आई.एन.जी.आर. नम्बर 09130 (INGR No. 09130) 1.एक रस की उच्च गुणवत्ता वाला कृन्तक 2. जो शर्करा की दृष्टि से से जल्द ही 240 दिनों पर परिपक्वता हासिल कर लेता है।
एस.बी.आई.ई.सी.- 11001 (SBIEC 11001) आई.एन.जी.आर. नम्बर 12016 (INGR No. 12016);
आई.सी. 0594462 (IC No. 0594462)
यह उच्च जीव भार उत्पादन करने वाला संकर गन्ना है। इससे 279 टन/है0 ताजा जीव भार व 101.23 टन/है0 का सूखा भार उत्पादन करने की आशा की जाती है।
एस.बी.आई.ई.सी.-11002 (SBIEC 11002) आई.एन.जी.आर. नम्बर 12017 (INGR No. 12017);
आई.सी. 0594463 (IC No. 0594463)
एक दोहरे प्रयोजन वाला ऊर्जा गन्ना जिसमें उच्च रेशे की 22.58% मात्रा के साथ साथ 15.92 की उच्च ब्रिक्स भी है। इसमें 247.5 टन/है0 का ताजा कटाई योग्य जीव भार व 82.2 टन/है0 का सूखा भार उत्पादन करने की क्षमता है।.
को. 0230 (Co 0230) आई.एन.जी.आर. नम्बर 12018 (INGR12018),
आई.सी. 0594465 (IC 0594465)
उत्तरी मध्य भारत के लिये यह एक जल प्लावन प्रतिरोधि प्रजाति है जो बी.ओ. 99 से 50% से अधिक उत्पादन देने की क्षमता रखती है। इसमें अच्छी पेडि़यां देने की क्षमता भी है।
CYM 08-903 आई.एन.जी.आर. नम्बर 13019 (INGR13019),
आई.सी. 0594482 (IC0594482)
एक संकर गन्ना जिसमें इरिएन्थस अरुंडिनेशियस का कोशिका द्रव्य है। इसे (इरिएन्थस अरुंडिनेशियस x सैक्रम स्पानटेनियम) x संकर गन्ना के बीच क्रसिस द्वारा विकसित किया गया है। गन्ने की प्रजातियों के साथ क्रासिंग कर लाल सड़न रोग प्रतिरोधि किस्मों के विकास के लिये यह एक उत्तम पैतृक है।
एस.बी.आई.ई.सी.-11004 (SBIEC11004) आई.एन.जी.आर. नम्बर 13050 (INGR13050),
आई.सी. 0594464 (IC0594464)
एक ऊर्जा गन्ना जिसमें उच्च रेशे की मात्रा के साथ साथ जिसमें उच्च जीव भार उत्पादन करने की क्षमता है।
SES 159 आई.एन.जी.आर. नम्बर 13070 (INGR13070)
आई.सी. 0561900 (IC0561900)
इरिएन्थस अरुंडिनेशियस जिसमें उच्च जीव भार, उच्च गन्ना उत्पादन, उच्च एन.एम.सी. और सी.ओ.डी. की क्षमता है व इसमें इन विटरो में उत्तरदायित्व की क्षमता भी है।
एस.बी.आई.-1148-11-13-2-255 (SBI-1148-11-13-2-255) आई.एन.जी.आर. नम्बर 13071 (INGR13071) यह को. 1148 के सैल्फों की चोथी पीढ़ी है जिसमें उच्च शर्करा व लाल सड़न रोग प्रतिरोधिता देखी गई और इसमें संततियों का प्रदर्शन भी एक जैसा देखा गया।

USEFUL LINKS

Google Translate

For your Attention



Contact us





Visitors Count

0718334
Today
Yesterday
This Week
Last Week
This Month
Last Month
All days
1527
2052
7063
697590
26194
75547
718334
IP & Time: 3.238.249.17
2021-04-14 17:10